Narendra Modi oath ceremony as PM From guest list to security arrangements all you need to know


PM Third Term Oath: NDA संसदीय दल के नेता नरेंद्र मोदी रविवार शाम लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे.  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शुक्रवार को मोदी को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया. मुर्मू ने मोदी को प्रधानमंत्री पद के लिए मनोनीत किया. लोकसभा चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाली NDA ने 293 सीट पर जीत दर्ज की. जबकि बीजेपी ने अकेले 240 सीटों पर जीत हासिल की है. पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बांग्लादेश, श्रीलंका, मालदीव, भूटान, नेपाल, मॉरीशस और सेशेल्स के शीर्ष नेताओं के शामिल होने की संभावना है. 

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, शपथ ग्रहण समारोह के लिए दिल्ली में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. राष्ट्रपति भवन की सुरक्षा के लिए अर्धसैनिक बलों की पांच कंपनी, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) कमांडो, ड्रोन और ‘स्नाइपर’ को तैनात किया गया है. विदेशी मेहमान राजधानी के लीला, ताज, आईटीसी मौर्या, क्लेरिजस और ओबेरॉय होटल में रुकेंगे. इसके चलते होटलों को सुरक्षा घेरे में ले लिया गया है. 

पुलिस और एनएसजी के कमांडो रहेंगे तैनात 

समारोह के दिन दिल्ली पुलिस के स्वाट और एनएसजी के कमांडो राष्ट्रपति भवन एवं विभिन्न अहम स्थानों के आसपास तैनात रहेंगे. अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने समारोह के मद्देनजर सुरक्षा योजना बनाने के लिए पुलिस मुख्यालय और नई दिल्ली जिले में कई बैठकें की. शपथ ग्रहण राष्ट्रपति भवन के अंदर होना है, इसलिए परिसर के अंदर और बाहर तीन-स्तरीय सुरक्षा होगी. ‘बाहरी घेरे’ पर दिल्ली पुलिस के जवान तैनात रहेंगे, उसके बाद अर्धसैनिक बल के जवान और ‘भीतरी घेरे’ में राष्ट्रपति भवन की आंतरिक सुरक्षा के जवान तैनात रहेंगे. 

जी-20 शिखर सम्मेलन की तरह होगी व्यवस्था

अधिकारी ने बताया, अर्धसैनिक बलों और दिल्ली सशस्त्र पुलिस (डीएपी) के जवानों की पांच कंपनी सहित लगभग 2500 पुलिस कर्मियों को कार्यक्रम स्थल के आसपास तैनात किए जाने की योजना बनाई गई है. एक अन्य अधिकारी ने बताया कि गणमान्य व्यक्ति जिन मार्गों का इस्तेमाल करेंगे, उन पर ‘स्नाइपर’ और सशस्त्र पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे और नई दिल्ली जिले में अहम स्थानों पर ड्रोन तैनात किए जाएंगे.  उन्होंने बताया कि सुरक्षा घेरा पिछले वर्ष हुए जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान की गई व्यवस्था की तरह ही रहने की संभावना है. 

अधिकारी ने बताया कि रविवार को दिल्ली के मध्य भाग की ओर जाने वाली कई सड़कें बंद की जा सकती हैं या सुबह से ही यातायात में बदलाव किया जा सकता है. राष्ट्रीय राजधानी की सीमाओं पर शनिवार से ही जांच बढ़ा दी जाएगी. 

ये विदेशी नेता होंगे शामिल

  • श्रीलंका के राष्ट्रपति- रानिल विक्रमसिंघे
  • मालदीव के राष्ट्रपति- डॉ मोहम्मद मुइज्जू
  • सेशेल्स के उपराष्ट्रपति- अहमद अफीक
  • बांग्लादेश की प्रधानमंत्री- शेख हसीना
  • मॉरीशस के प्रधानमंत्री- प्रविंद कुमार जुगनुथ
  • नेपाल के प्रधानमंत्री- पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’
  • भूटान के प्रधानमंत्री- शेरिंग टोबगे

राष्ट्रपति मुर्मू ने नरेंद्र मोदी को खिलाया दही

राष्ट्रपति भवन की विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘राष्ट्रपति ने प्राप्त विभिन्न समर्थन पत्रों के आधार पर पाया कि भाजपा के नेतृत्व वाला राजग गठबंधन नवगठित 18वीं लोकसभा में बहुमत प्राप्त करने तथा एक स्थिर सरकार बनाने की स्थिति में है. भारतीय संविधान के अनुच्छेद 75(1) के तहत प्रदत्त शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए श्री नरेन्द्र मोदी को भारत का प्रधानमंत्री मनोनीत किया जाता है.” विज्ञप्ति में कहा गया है कि राष्ट्रपति रविवार की शाम सात बजकर 15 मिनट पर राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री और केंद्रीय मंत्रिपरिषद के अन्य सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी. 

राष्ट्रपति मुर्मू ने मोदी को मनोनयन का पत्र सौंपा

मोदी ने शुक्रवार शाम यहां राष्ट्रपति भवन में मुर्मू से मुलाकात की. राष्ट्रपति मुर्मू ने मोदी को मनोनयन का पत्र सौंपा. भाजपा ने ‘एक्स’ पर मुर्मू और मोदी की तस्वीर के साथ एक पोस्ट में कहा, ”राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने राजग के नेता एवं मनोनीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दही खिलाकर केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली राजग सरकार बनाने का आमंत्रण दिया. सूत्रों के मुताबिक, भाजपा के सभी प्रमुख सहयोगी दल, तेदेपा, जद (यू), शिवसेना और एलजेपी(आर) को शपथ ग्रहण समारोह के दौरान सरकार में प्रतिनिधित्व दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें- मोदी 3.0 के शपथग्रहण में श्रीलंका के राष्ट्रपति से बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना तक, ये होंगे चीफ गेस्ट



Source link

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *